आप यहां है : Skip Navigation LinksWelcome > फेक्ट होम पेज (हिंदी) > >
 
उदभव

उद्योग की संरचना एवं विकास

भारत के बडे पैमाने के उर्वरक एकक एफ ए सी टी 1943 में स्थापित किया गया। 1947 में 10000 मी ट नाइट्रोजन की संस्थापित क्षमता के साथ एफ एसी टी, उद्योगमंडल में अमोनियम सल्फेट का उत्पादन शुरू किया। 15 अगस्त 1960 को एफ ए सी टी एक केरल राज्य सार्वजनिक उद्यम बन गया और 21 नवंबर 1962 को भारत सरकार इसकी मुख्य शेयरधारी बन गई।

एफ ए सी टी के विस्तार का दूसरा चरण 1962 में पूरा किया गया। एफ ए सी टी के विस्तार का तीसरा चरण 1965 को नई अमोनियम सल्फेट संयंत्र की स्थापना के साथ पूरा किया गया।

समग्र एवं आधुनिक उर्वरक संयंत्रों की स्थापना करने के लिए अभियांत्रिकी, अभिकल्प, परामर्शी जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्र में देशीय क्षमताओं के लिए निर्गत अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए फेक्ट इंजीनियरिंग एण्ड डिज़ाइन ऑर्गनाइज़ेशन 24 जुलाई 1965 को स्थापित किया गया। तब से फेडो, रसायन, पेट्रोकेमिकल, हाइड्रोमटलर्जी, फार्मस्यूटिकल्स एवं अन्य क्षेत्रों में विविधीकृत किया गया। फेडो, परियोजना पहचान, संयंत्र अभिकल्प के मूल्यांकन अधिप्राप्ति, परियोजना प्रबंध, स्थल पर्यवेक्षण और नए संयंत्रों का कमीशनिंग  तथा पुराने संयंत्रों की मरम्मत एवं आधुनिकीकरण संबंधी सेवा प्रदान करती है।

उर्वरक संयंत्रों के लिए उपस्करों के निर्माण एवं स्थापना के लिए एक एकक के रूप में फेक्ट इंजीनियरिंग वर्क्स 13 अप्रैल 1966 को स्थापित किया गया। वर्षों से फिऊ ने प्रेशर वेस्सल एवं हीट एक्स्चेंजर्स के निर्माण करने के लिए क्षमता विकसित किया। फिऊ ने राष्ट्रपार पाइप बिछाने एवं निर्माण का काम तथा हाइड्रल परियोजनाओं के बडे पेनस्टॉक्स स्थापित करने के का काम लिया है।

एफ ए सी टी के कोचीन डिविज़न में दूसरा उत्पादन एकक अंबलमेडु में स्थापित किया गया और प्रथम चरण 1973 में कमीशन किया गया। एफ ए सी टी कोचीन डिविज़न का दूसरा चरण 1976 में कमीशन किया।

उर्वरक एवं रसायन के परंपरागत कार्यक्षेत्र की विविधीकरण योजना के रूप में उद्योगमंडल में 50,000 ट प्र व का केप्रोलेक्टम संयंत्र 1990 में कमीशन किया गया।

जनहित विवाद पर फरवरी 1994 में केरल के उच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार एफ ए सी टी ने उद्योगमंडल में 638 करोड रूपए की लागत के 900 ट प्र दि का अमोनिया संयंत्र स्थापित किया जिससे विल्लिंगडन द्वीप (कोचीन पोर्ट) के वर्तमान आयातित अमोनिया टंकी तथा हैंडलिंग सुविधा को बंद किया। अमोनिया संयंत्र 1998 में कमीशन किया गया। कंपनी का मुख्य कारोबार (क) उर्वरक एवं (ख) केप्रोलेक्टम का उत्पादन एवं विपणन तथा इंजीनियरिंग परामर्शी एवं उपस्करों की संरचना है।







 

विशिष्टियाँ

22-09-1943

संस्थापन

26-06-1947

उत्पादन शुरू किया

 

15-08-1960

एफ ए सी टी सार्वजनिक उपक्रम बन गया

21-11-1962

भारत सरकार मुख्य शेयरधारी बन गई

 

1959-1960

उद्योगमंडल संभाग के प्रथम चरण का विस्तार पूरा किया

 

1962

उद्योगमंडल संभाग के द्वितीय चरण का विस्तार पूरा किया

 

16-03-1964

उपोत्पाद जिप्सम के उपयोग के लिए आई सी एम ए पुरस्कार

15-10-1966

उद्योगमंडल संभाग के तृतीय चरण का विस्तार पूरा किया

1971

तकनॉलजी स्थानांतरण के लिए आई सी एम ए पुरस्कार

 

01-10-1971

उद्योगमंडल संभाग के चौथा चरण अमोनिया संयंत्र

 

01-10-1973

उद्योगमंडल संभाग के चौथा चरण 150 ट प्र दि अमोनियम फोस्फेट

 

24-07-1965

फेक्ट इंजीनियरिंग एण्ड डिज़ाइन ऑर्गानाइज़ेशन

 

13-04-1966

फेक्ट इंजीनियरिंग वर्क्स

 

07-06-1966

कोचीन संभाग चरण I की अनुज्ञप्ति जारी की गई

 

27-04-1973

कोचीन संभाग II यूरिया संयंत्र का कमीशन किया गया

 

10-11-1976

कोचीन संभाग II सल्फूरिक एसिड संयंत्र का कमीशन किया गया

 

10-12-1976

कोचीन संभाग II फोस्फोरिक एसिड संयंत्र का कमीशन किया गया

10-01-1977

कोचीन संभाग II एन पी के का परीक्षणात्मक प्रचालन शुरू किया

01-04-1979

कोचीन संभाग II एन पी के का वाणिज्यिक उत्पादन शुरू किया

18-05-1984

पेट्रोकेमिकल संभाग कैप्रोलेक्टम तकनीकी सहयोग का करार

 

14-09-1984

ए एस सी एल परियोजना का पी डी शून्य दिनांक

 

06-08-1985

पेट्रोकेमिकल संभाग कैप्रोलेक्टम की अनुज्ञप्ति जारी की गई

 

13-12-1989

एफ ई डब्ल्यू, पल्लुरुत्ती को स्थानांतरित किया गया

 

26-07-1989

भारत सरकार से 1986/7 वर्ष के लिए उत्तम निष्पादन के लिए पुरस्कार

 

20-12-1990

कोचीन संभाग -12 एम डब्ल्यू के कैप्टीव पाअर संयंत्र

 

01-03-1991

पेट्रोकेमिकल संभाग कैप्रोलेक्टम का वाणिज्यिक उत्पादन शुरू किया

 

01-03-1991

उद्योगमंडल संभाग के नए अमोनियम सल्फेट का वाणिज्यिक उत्पादन शुरू किया

25-09-1993

आधार शिला 900 ट प्र दि अमोनिया संयंत्र

 

22-03-1998

900 ट प्र दि अमोनिया संयंत्र वणिज्यिक उत्पादन शुरू किया